Download Manusmriti Hindi PDF | मनुस्मृति PDF हिंदी में डाउनलोड करे

0
64

हेल्लो Readers , pdfinhindi.com के इस पोस्ट में हम लेकर आये है Manusmriti Hindi PDF मनुस्मृति PDF हिंदी में . इससे पहले हमने इस वेबसाइट पे Bhagwat Geeta In Hindi PDF , Hanuman Chalisa In Hindi PDF , Quran In Hindi PDF उपलब्ध किया हुआ था.

हमने यहाँ पे इस पोस्ट में सबसे निचे Manusmriti Hindi PDF की डायरेक्ट डाउनलोड लिंक दी हुई है| वहा से आप मनुस्मृति PDF हिंदी में डाउनलोड कर सकते है|

पुस्तक के लेखक                    : Maharshi Manu
पुस्तक की श्रेणी                     : Hindu, Manovigyan , Dharm
पुस्तक का साइज                    : 18.1 MB
कुल पृष्ठ                               : 649
Manusmriti Hindi PDF मनुस्मृति PDF हिंदी
Manusmriti Hindi PDF | मनुस्मृति PDF हिंदी में डाउनलोड करे

Download Manusmriti Hindi PDF

इस पुस्तक का नाम : मनुस्मृति है | इस पुस्तक के लेखक Maharshi Manu जी हैं | इस पुस्तक का कुल साइज 18.1 MB है | पुस्तक में कुल 649 पृष्ठ हैं |नीचे मनुस्मृति का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | मनुस्मृति पुस्तक की श्रेणियां हैं : Hindu, Manovigyan , Dharm
Name of the Book is : Manusmrati. This Book is written by Maharshi Manu . The size of this book is 8.1 MB | This Book has 649 Pages. The Download link of the book “Manusmrati” is given above, you can Downlaod Manusmrati from the above link for free. Manusmrati is posted under following categories Hindu, Manovigyan , Dharm.

👇मनुस्मृति के कुछ चुने हुए श्लोक👇

धृति क्षमा दमोस्तेयं, शौचं इन्द्रियनिग्रहः।
धीर्विद्या सत्यं अक्रोधो, दसकं धर्म लक्षणम ॥

अर्थ – धर्म के दस लक्षण हैं – धैर्य, क्षमा, संयम, चोरी न करना, स्वच्छता, इन्द्रियों को वश में रखना, बुद्धि, विद्या, सत्य और क्रोध न करना (अक्रोध)।
नास्य छिद्रं परो विद्याच्छिद्रं विद्यात्परस्य तु।
गूहेत्कूर्म इवांगानि रक्षेद्विवरमात्मन: ॥
वकवच्चिन्तयेदर्थान् सिंहवच्च पराक्रमेत्।
वृकवच्चावलुम्पेत शशवच्च विनिष्पतेत् ॥
अर्थ – कोई शत्रु अपने छिद्र (निर्बलता) को न जान सके और स्वयं शत्रु के छिद्रों को जानता रहे, जैसे कछुआ अपने अंगों को गुप्त रखता है, वैसे ही शत्रु के प्रवेश करने के छिद्र को गुप्त रक्खे। जैसे बगुला ध्यानमग्न होकर मछली पकड़ने को ताकता है, वैसे अर्थसंग्रह का विचार किया करे, शस्त्र और बल की वृद्धि कर के शत्रु को जीतने के लिए सिंह के समान पराक्रम करे। चीते के समान छिप कर शत्रुओं को पकड़े और समीप से आये बलवान शत्रुओं से शश (खरगोश) के समान दूर भाग जाये और बाद में उनको छल से पकड़े।
नोच्छिष्ठं कस्यचिद्दद्यान्नाद्याचैव तथान्तरा।
न चैवात्यशनं कुर्यान्न चोच्छिष्ट: क्वचिद् व्रजेत् ॥
अर्थ – न किसी को अपना जूठा पदार्थ दे और न किसी के भोजन के बीच आप खावे, न अधिक भोजन करे और न भोजन किये पश्चात हाथ-मुंह धोये बिना कहीं इधर-उधर जाये।
तैलक्षौमे चिताधूमे मिथुने क्षौरकर्मणि।
तावद्भवति चांडाल: यावद् स्नानं न समाचरेत ॥
अर्थ – तेल-मालिश के उपरान्त, चिता के धूंऐं में रहने के बाद, मिथुन (संभोग) के बाद और केश-मुण्डन के पश्चात – व्यक्ति तब तक चांडाल (अपवित्र) रहता है जब तक स्नान नहीं कर लेता – मतलब इन कामों के बाद नहाना जरूरी है।
अनुमंता विशसिता निहन्ता क्रयविक्रयी।
संस्कर्त्ता चोपहर्त्ता च खादकश्चेति घातका: ॥
अर्थ – अनुमति (= मारने की आज्ञा) देने, मांस के काटने, पशु आदि के मारने, उनको मारने के लिए लेने और बेचने, मांस के पकाने, परोसने और खाने वाले – ये आठों प्रकार के मनुष्य घातक, हिंसक अर्थात् ये सब एक समान पापी हैं।

मनुस्मृति PDF हिंदी में डाउनलोड करे

यहाँ पे दिए हुए Manusmriti Hindi PDF के लिंक पे क्लिक करके मनुस्मृति PDF हिंदी में डाउनलोड करे |

 

डाउनलोड मनुस्मृति पुस्तक PDF In Hindi

 


IMPORTANT BOOKS:

Download Bhagwat Geeta In Hindi PDF | Shrimad Bhagwat Geeta In Hindi PDF

Free Quran In Hindi PDF | Download Quran PDF In Hindi

Download Hanuman Chalisa PDF | Hanuman Chalisa In Hindi PDF

 


 


महत्वपूर्ण : निचे दिए गये WhatsApp , Facebook बटन के माध्यम से आप इस महत्वपूर्ण PDF को शेयर भी कर सकते है | आपके एक शेयर से किसीको अच्छी जानकारी मिल सकती है |


Disclaimer: PDFInHindi.com केवल Educational Purpose के लिए बनायीं गयी है.

इस पर उपलब्ध कुछ Books/Notes /PDF के मालिक PDFInHindi.com नही है |हम सिर्फ इंटरनेट पे पहले से उपलब्ध लिंक और material प्रोवाइड करते है |

अगर किसी भी तरह से यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो कृपया हमे Mail करे – [email protected]


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.